Community Certificate in hindi

जाति प्रमाण पत्र कैसे बनवाए -Community Certificate in hindi

community certificate kaise banaye (कास्ट सर्टिफिकेट कैसे बनाये): विद्यार्थी जीवन काल में एक विद्यार्थी को अलग अलग तरह के exams, इंटरव्यू देने पढ़ते है। एक अच्छी jobs पाने के लिए और हर परीक्षा में हर category के स्टूडेंट्स की अलग seats या fee criteria होता है ऐसे में अगर आप general category के स्टूडेंट्स है।

तब तो आपको कोई दस्तावेज नहीं दिखाना पढता लेकिन अगर आप reserved category के स्टूडेंटन्स है तब आपको caste certificate या community certificate दिखाना पढता है। और ये बहुत जरुरी भी होता है। community certificate का यूज़ करके आप गवर्नमेंट की काफी सारी scheme का लाभ भी उठा सकते है आदि। तो आज इस लेख में हम community certificate के बारे में ही पूरी बात करेंगे ताकि आपको इससे जुड़ी हर छोटी बढ़ी बात पता चल सके।

Caste सर्टिफिकेट Kya होता Hai (Community Certificate)

community certificate उस दस्तावेज को बोला जाता है जो reserved category वाले स्टूडेंट्स बनवाते है। ताकि ये बता सके की वो किस community के है कम्युनिटी certificate को ही caste certificate या जाति प्रमाण पत्र बोला जाता है। community certificate ज्यादातर SC, ST और OBC के students बनवाते है अपनी कम्युनिटी बताने के लिए उपयोग करते है । इस सर्टिफिकेट की बहुत ही ज्यादा importance है हर जगह इस certificate की मदद से  SC, ST और OBC के students को एडमिशन, स्कूल फीस या और अन्य facility में रियायत मिलती है।

आगे हम ये भी जानेंगे की caste certificate kaise banaye विस्तार से। community certificate बनवाने के लिए आपको state government से संपर्क करना पढता  है। MBA JEE MBBS  जैसे या और भी बहुत से govt. एक्साम्स में जो reserved category के कैंडिडेट्स होते है। उनकी cutoff कम रखी जाती है ऐसे में अगर उनके पास ये important दस्तावेज है तो उन्हें cutoff कम रखने का फायदा मिल जाता है।

कम्युनिटी certificate कैसे बनवाया जाता है? (caste certificate kaise banaye in hindi )

इस document को बनवाने का हर राज्य (States) में अपना एक process होता है। ज्यादातर राज्यों  में एक जैसा ही प्रक्रिया होता है आप उन instructions को फॉलो करके अपना कास्ट certificate या जाति प्रमाण पत्र (or community certificate)  बनवा सकते है। 

  • community certificate बनवाने के लिए आपको सबसे पहले अपने क्षेत्र के SDM ऑफिस जाना होगा। 
  • SDM office से लिए application फॉर्म लेके उसे completely भरना होगा। जैसे- Applicant का नाम, father/ husband का नाम, जेंडर,  पूरा पता, राशन कार्ड का नंबर, parents के community certificate की details, date (apply करने वाली दिन की date), applicant के हस्ताक्षर, community certificate बनवाने का कारन आदि सब भरना पढता है। 
  • अब उस community certificate के फॉर्म के साथ कुछ जरूरी दस्तावेज लगाकर उसे submit करना होगा SDM office में। 
  • फॉर्म submit होने के बाद आपको वह से एक acknowledgement slip मिलेगी जिधर unique application number लिखा होगा। इसका use करके आप अपने application form का status चेक कर सकते है।
  • अब कुछ दिन बाद आपकी एक local verification होगी यानी जहां आप रहते है। वही उसके कुछ दिन बाद तक आपका सर्टिफिकेट issued हो जायेगा। 
  • सर्टिफिकेट को collect करने के लिए आपको SDM के ऑफिस जाकर अपनी acknowledgement slip दिखाकर आप अपना सर्टिफिकेट ले सकते है।

अगर आपके पास time नहीं है, ऑफिस जाके बनवाने का तो आप state government की या फिर SDM की वेबसाइट पर जाके भी caste certificate kaise banaye के लिए ऑनलाइन apply कर ही सकते है। इससे आपका आधे से ज्यादा time बचेगा। 

यह certificate बनने का समय 

जब आपने caste certificate बनवाने का form जमा कर दिया उसके कुछ दिन बाद यानी 14 से 20 दिन के अंदर अंदर ये community certificate या caste certificate बन के तैयार हो  जाता है। अगर आपने online apply किया है तब भी आप 14-20 डेज के बाद website से download कर सकते है।

ये भी पढ़े :-Provisional Certificate क्या है और कैसे बनवाए ?

Legal Heir Certificate क्या है और इसे कैसे बनवाए ?

Community certificate ke liye Important documents

caste certificate kaise banaye: caste सर्टिफिकेट बनवाने के लिए आपके पास कुछ जरुरी documents का होना अति आवशयक है – 

  • address proof के लिए आपको बिजली का बिल (Electricity bill), पानी का बिल (Water bill), आधार कार्ड, वोटर id card , Ration कार्ड, पासपोर्ट आदि कोई भी जिस पर आपका घर का सही पता लिखा हो। 
  • identity proof के लिए आधार कार्ड (Aadhar Card), वोटर आईडी कार्ड (Voter card),  पैन कार्ड, passport, ड्राइविंग लाइसेंस (driving license) आदि। 
  • आपको ऐसा दस्तावेज (document) भी देना पढता है जो ये proof कर सके की आपका उस व्यक्ति के साथ क्या relation है आप इसके लिए आप school leaving सर्टिफिकेट या birth सर्टिफिकेट ओर कोई document जो blood relative साबित कर सकें की कॉपी लगा सकते है।

कुछ situations ऐसी भी है जिनमे caste certificate ke liye ओर भी document proofs दिखाने पढ़ते है।  

Situation 1: अगर applicant के  father का caste certificate नहीं है  तब उसे कोई ऐसा दस्तावेज दिखाना  होगा जो blood relation को  साबित कर सके।

Situation 2: अगर applicant  ने धर्म change किया है इस case में एप्लिकेंट को धर्म बदलवाने से पहले जो caste थी उसका proof देना पढ़ेगा।

Situation 3: अगर applicant ने दूसरी state में शिफ्ट  किया है तब उसे अपने पिछले शहर में issued हुए father के caste के proof का दस्तावेज देना पड़ता है।

Situation 4: अगर  applicant शादीशुदा  है  इस situation में उसे शादी  से पहले की caste का proof तथा शादी का सर्टिफिकेट लगाना पढता  है। 

कम्युनिटी certificate फायदे (Caste Certificate Ke Kya Fayde Hote Hai)

caste certificate kaise banaye के बारे में बात करने के बाद अब हम उसके फायदे जानेंगे community certificate के बहुत से ऐसे फायदे होते है। यहाँ हम यहाँ one by one उन्हीं benefits के बारे में बात करेंगे –

  • हर यूनिवर्सिटी या college में reserved category के स्टूडेंट्स के लिए अलग से कुछ seats रखी जाती है।  अगर आप reserved category से है तो आप अपना community certificate दिखाकर इस सुविधा का फायदा उठा सकते है इससे आपको एडमिशन मिल जायेगा। 
  • जब भी आप किसी govt job का एप्लीकेशन फॉर्म भरते है आपने अक्सर एक  बात देखी होगी के उनमे application fees हर category के स्टूडेंट्स के लिए अलग अलग होती है। यानी जनरल केटेगरी के लिए अलग और reserved category के लिए अकसर कम application fees होती है।  ऐसे में अगर आप अपना community certificate दिखाकर या जमा करके काम एप्लीकेशन फीस भर सकते है। ऐसा ही यूनिवर्सिटी या कॉलेज में भी होता है हर कोर्स की अलग-अलग कैटेगरी की अलग फीस होती है रिजर्व्ड कैटेगरी के students अपना सर्टिफिकेट दिखाकर उस category के हिसाब से फीस भर सकते है।  
  • अगर आप सरकारी जॉब चाहते हैं तो भी community certificate आपके लिए बहुत ज्यादा हेल्पफुल होगा क्योंकि सरकार भी हर श्रेणी के स्टूडेंट के लिए अलग अलग seats रखती है। तो वह आप community certificate दिखाकर reserved कैटेगरी की खाली seats पर जॉब ले सकते है।
  • बहुत सी ऐसी सरकारी schemes होती है जिसका फायदा लेने के लिए भी community certificate जरुरी होता है। जैसे सरकार कुछ योजना सिर्फ minority students के लिए निकलती है ऐसे में इन योजना का आप को तभी benefit मिल सकता है। जब आपके पास आपका community certificate होगा। 

community certificate का क्या meaning होता है?

आप इसे इस तरह भी समझ सकते है की, कम्युनिटी सर्टिफिकेट या कास्ट सर्टिफिकेट एक तरह का proof होता है की आप reserved category से है। ये सर्टिफिकेट एक तरीके से आपकी community के बारे में बताता है।


कम्युनिटी सर्टिफिकेट बनवाना क्यों जरूरी होता है?

अगर आप reserved category से जुड़े है जैसे SC, ST, OBC तो आपको अपनी केटेगरी का proof देने के लिए ये कम्युनिटी सर्टिफिकेट बनवाना जरुरी हो जाता है। साथ ही sarkari schemes  का फायदा उठाने के लिए भी ये सर्टिफिकेट बेहद ही जरुरी होता है।


क्या caste certificate और community सर्टिफिकेट दोनों same होते है?

जी हाँ, कम्युनिटी सर्टिफिकेट को ही कास्ट सर्टिफिकेट (caste certificate) भी बोला जाता है। दोनों एक ही है बस कुछ जगह आपको कम्युनिटी सर्टिफिकेट लिखा मिलेगा तो कुछ जगह caste certificate लेकिन आपको confuse नहीं  होना दोनों का मतलब same है।


क्या general category के स्टूडेंट्स को भी कम्युनिटी certificate बनवाना जरुरी होता है?

नहीं, general category के candidate या स्टूडेंट्स को कोई जरूरत नहीं के वो community certificate बनाये ये सर्टिफिकेट केवल और केवल reserved कैटेगरी  candidates ही बनवाते है।

caste सर्टिफिकेट की validity कब तक होती है?

caste सर्टिफिकेट की तीन साल तक valid होती है। उसके बाद आपको दोबारा renew करवाना पढता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *