legal heir certificate

Legal Heir Certificate क्या है और इसे कैसे बनवाए ?

आपको ये तो पता ही होगा की किसी की मृत्यु हो जाने के बाद उस इंसान की पूंजी पाने में वारिस प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है आज के इस लेख में हम यही जानेंगे की आखिर ये वारिस प्रमाण पत्र होता क्या है (legal heir certificate in hindi) इसकी आवशयकता क्यों पढ़ती है, और ये कैसे बनवाया जाता है। 

Legal Heir Certificate किसे बोला जाता है? 

Legal Heir Certificate(वारिस प्रमाण पत्र) एक ऐसा दस्तावेज होता है जो सरकार उन लोगों को बनाकर देती है जिनके पेरेंट्स या husband की अचानक मृत्यु हो चुकी है। 

इस सर्टिफिकेट की मदद से वह लोग उस मृत व्यक्ति (deceased person) के साथ क्या relation था ये साबित कर पाते है और उससे जुड़ी सभी प्रकार की पूंजी जैसे सैलरी, insurance आदि पर claim कर सकते है। अगर मृत व्यक्ति कही सरकारी काम करता था तो उस सरकारी department से pention आदि लेने के लिए वारिस प्रमाण पत्र दिखाना ही पढ़ेगा। 

Legal Heir Certificate बनवाये (Legal Heir Certificate kaise banvaye)

  • आपको अपने एरिया (area) के तहसीलदार या फिर सिविल कोर्ट (District Civil Court) में जाकर भी इस certificate के लिए apply कर सकते हो। 
  • अब आपको तहसीलदार या डिस्ट्रिक्ट सिविल कोर्ट से एप्लीकेशन फॉर्म लेना होगा। 
  • उस application form में सभी जरूरी जानकारी भरनी होगी।
  • अब एप्लीकेशन फॉर्म के साथ कुछ जरूरी दस्तावेज लगाने होंगे। 
  • अब पूरी तरीके से भरा एप्लीकेशन फॉर्म को officer को जमा कर दे।
  • application form जमा होने के कुछ समय बाद उस क्षेत्र का local revenue officer और village administrative official या फिर SDM आपका एप्लीकेशन फॉर्म को अच्छे से जांच (Verify) करेंगे। 
  • फिर 14 दिन या 1 महीने बाद आपको आपका वारिस प्रमाण पत्र मिल जायेगा। 

इस सर्टिफिकेट को आप online भी बनवा सकते है आपको SDM या local revenue की official website पर भी पता करे।  

जरूरी Documents 

इस सर्टिफिकेट को बनवाने के लिए कुछ जरुरी दस्तावेज की जरुरत पढ़ती है जिसके बारे में हमने नीचे बताया है –

  • डेथ सर्टिफिकेट 
  • आधार कार्ड 
  • राशन कार्ड 
  • एप्लीकेशन फॉर्म (Application Form)

आईडी कार्ड  (Identity Card)

सभी जरूरी दस्तावेज (Documents) जमा करने के बाद भी इस दस्तावेज को बनने में लगभग एक महीना तक लग जाता है। 

इस सर्टिफिकेट को बनवाने के लिए आपको कुछ जानकारी बतानी पढ़ती है जैसे मरने वाले का नाम, उनके साथ आपका क्या रिश्ता था वो सब, परिवार के सभी सदस्यों का नाम, जो इस दस्तावेज को बनवाने के लिए apply कर रहे है उनके हस्ताक्षर (Signature) और घर का सही पता आदि जरुरी जानकारी देने से ही ये दस्तावेज बन पाता है।  

फीस कितनी लगती है

Legal Heir Certificate in Hindi: वारिस प्रमाण पत्र बनवाने में कुछ nominal सी फीस देनी पढ़ती है। कुछ जगह पर तो किसी तरह की कोई फीस देने की जरुरत भी नहीं पढ़ती।   

Legal Heir Certificate से होने वाला फायदा 

इस सर्टिफिकेट के के अनगिनत फायदे होते है –

  • इस सर्टिफिकेट के जरिये आप मृत व्यक्ति के साथ आपका क्या रिश्ता था ये साबित कर सकते है। 
  • उस मृत व्यक्ति से जुड़ी इन्शुरन्स (Insurance),प्रोविडेंट फण्ड (Provident funds), रिटायरमेंट फण्ड (Retirement funds), या और जमा पूंजी पर भी हक़ ले सकते है। 
  • इस सर्टिफिकेट की मदद से आप government की और भी बहुत सी योजना के फायदे उठा सकते है।  
  • अगर वो मृत व्यक्ति किसी government में जॉब करते था तो आप भी उनके जाने के बाद government जॉब के लिए claim कर सकते है। 

ये भी पढ़े ;-Provisional Certificate क्या है और कैसे बनवाए ?

Legal Heir Certificate बनवाने के लिए कौन apply कर सकता है?

मृत व्यक्ति के परिवार का कोई भी सदस्य इस certificate या document को बनवाने के लिए apply कर सकता है और वह परिवार में से कोई भी हो सकता है।

  • मृत व्यक्ति की माँ
  • मृत व्यक्ति की पत्नी, 
  • मृत व्यक्ति का पति, 
  • मृत व्यक्ति का बेटा या बेटी, आदि इस certificate के लिए apply कर सकते है। 

legal heir certificate की jarurat 

Legal Heir Certificate in Hindi: यदि किसी family के मुखिया (Head) की मृत्यु हुई है, तो ऐसे में जो वो family उस परिवार की पूरी संपत्ति (Property etc.) है। वो उसके बाद यानी पत्नी, बेटा या बेटी को मिलेगी लेकिन इस बात को साबित करने के लिए के आप उस मृत व्यक्ति से जुड़े है। आपको ये सर्टिफिकेट दिखाना ही पढ़ेगा या फिर मान लो आपको घर के मुखिया के जाने के बाद अपने घर के सभी bills जैसे बिजली का बिल, पानी का बिल, टैक्स, या प्रॉपर्टी का नाम आदि बदलवाना है। तो भी आपको इस जरूरी सर्टिफिकेट की जरुरत पड़ेगी। 

Legal heir certificate और Succession certificate में अंतर 

Legal Heir Certificate Succession Certificate 
इस सर्टिफिकेट को बनवाने के लिए मृत व्यक्ति के परिवार का कोई भी सदस्य apply कर सकता है जैसे पति या पत्नी या बेटा या बेटी।यह सर्टिफिकेट सिर्फ वही व्यक्ति बनवा सकता है जो मृत व्यक्ति के बाद उसकी  सभी चीज़ो का कानूनी वारिस हो।  
14 days से 1 month में बन के ready हो जाता है। ये 5 से 7 महीने के अंतर्गत बनता है।
इस सर्टिफिकेट का उपयोग केवल छोटी मोटी जगह पर ही किया जाता है जैसे इन्शुरन्स आदि। इस सर्टिफिकेट को security, पेमेंट, property transfer में उपयोग किया जाता है। 
इसमें बहुत काम फीस लगती है। जबकि इस सर्टिफिकेट को बनने में ज्यादा खर्च आता है। 
यह सर्टिफिकेट लोकल रेवेनुए डिपार्टमेंट या SDM से बनता है। ये सर्टिफिकेट सीधा कोर्ट से ही बनता है।

Legal heir certificate किसे  बोला जाता है?

अगर किसी व्यक्ति की अचानक मृत्यु हो गयी तब उसके परिवार के सदस्यों को एक दस्तावेज बनवाना पढता है जो इस बात को सुनिक्षित करता है की मृत व्यक्ति के  जाने के बाद उसकी हर चीज़ के वो अधिकारी है।

क्या बिना legal heir certificate के property बेची जा सकती है या नहीं ?

नहीं बेची जा सकती, legal heir certificate दिखाना बहुत जरूरी होता है।

Succession certificate क्या होता है?

Succession certificate उस सर्टिफिकेट को बोला जाता है जो  व्यक्ति के जाने के बाद उसके वारिस को मृत व्यक्ति की पूंजी का अधिकार देते है।

Legal heir certificate कहा से बनवाया जाता है ?

इस सर्टिफिकेट को बनवाने के लिए आपको अपने क्षेत्र के तहसीलदार से संपर्क करना पढता है।

Legal heir certificate बनने में कितना समय लगता है?

इस सर्टिफिकेट को बनने में 14 दिन से एक महीना भी लग जाता है।

क्या legal heir certificate और succession certificate दोनों एक है?

नहीं ये दोनों अलग सर्टिफिकेट होते है legal heir certificate परिवार का कोई भी सदस्य बनवा सकता है। लेकिन succession certificate केवल उसी इंसान को मिलता है जो वारिस होता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *