hard skills and soft skills

स्किल्स क्या है। Hard Skills and Soft Skills

चाहे बात जॉब की हो या फिर बिजनेस की, हर क्षेत्र में competition काफी ज्यादा बढ़ चुका है। इस competition  के समय में केवल वही व्यक्ति अधिक सरवाइव कर पाता है जो ज्यादा से ज्यादा एडवांस रहता है और skills से लैस होता हैं। आज के समय में किसी भी क्षेत्र में सफल होने के लिए skills काफी ज्यादा जरूरी होती है। 

Skills मुख्य रूप से 2 प्रकार की होती हैं: Hard Skills and Soft Skills ! ‘क्या आप जानते हैं कि Hard skills and Soft Skills क्या होती है’ और ‘सॉफ्ट स्किल्स और हार्ड स्किल्स में क्या फर्क हैं’? अगर नहीं, तो हमारा यह लेख आपके लिये ही हैं। इस लेख में हम ‘Hard Skills Vs Soft Skills के बीच का अतर जानेंगे।

हार्ड स्किलस क्या होती हैं? What is Hard Skills in Hindi

Hard Skills तकनीकी ज्ञान या प्रशिक्षण है जिसे आपने अपने कैरियर या शिक्षा सहित किसी भी जीवन के अनुभव के माध्यम से प्राप्त किया जाता है यानी कि अगर हम College में या किसी भी शिक्षण संस्थान में कोई डिग्री ग्रहण करते है तो हम Hard Skills ले रहे हैं जो हमे रोजगार दिलाएगी। 

Hard Skills में किसी उपकरण जैसे कि कम्यूटर आदि को उपयोग करने की, किसी चीज को बनाने की या फिर बेचने आदि की स्किल्स दी जाती है और Knowledge दी जाती हैं। अपनी Hard Skills के माध्यम से ही आप रोजगार प्राप्त कर सकते हो। सभी कम्पनिया बेहतर हार्ड स्किलस वाले लोगो को रिक्रूट करती हैं।

सॉफ्ट स्किलस क्या होती हैं? What is Soft Skills in Hindi

Hard Skills and Soft Skills मे सॉफ्ट स्किलस काफी अलग होती हैं हार्ड स्किल्स से। सॉफ्ट स्किल्स वह होती हैं जो व्यक्ति के Behaviour, confidence,उसकी Leadership क्वालिटी ओर  उसकी Critical Thinking Skills जैसे तथ्यों पर निर्भर करती हैं। 

सॉफ्ट स्किलस को people skills , social skills , communication skills , कैरेक्टर, एटीट्यूड, पर्सनालिटी, माइंडसेट, केरियर एट्रीब्यूट्स, टाइम मैनेजमेंट आदि पर निर्भर करती हैं। इन सभी चीजो से जुड़ी हुई स्किलस को ही Soft Skills कहा जाता हैं। 

यह वह स्किल्स होती है जिन्हें बिना Academic Knowledge के प्राप्त किया जाता हैं। सॉफ्ट स्किलस को personal skills  भी कहा जा सकता हैं। उदाहरण के तौर पर Communication Skills को सॉफ्ट स्किल्स में शामिल किया जाता है

सॉफ्ट स्किलस और हार्ड स्किलस के उदाहरण -Hard Skills and Soft Skills Examples

Hard Skills

  • फॉरेन लैंग्वेज में प्रोफिशिएंसी
  • डिग्री या सर्टिफिकेट
  • टाइपिंग स्पीड
  • कोडिंग लैंग्वेज
  • मशीन ऑपरेशन
  • कंटेंट राइटिंग

Soft Skills :

  • कम्युनिकेशन्स
  • फ्लैक्सिबिलिटी
  • लीडरशिप
  • मोटिवेशन
  • धैर्य
  • ग्रहण करना
  • टीम वर्ग
  • टाइम मेनेजमेंज
  • वर्क एथिक्स

हार्ड स्किल्स और सॉफ्ट स्किल्स में क्या अंतर हैं?

हार्ड स्किल्स आम तौर पर academic  संबंधित कौशल होते हैं जो व्यक्तियों के लिए उनके कामकाजी कैरियर या पेशेवर क्षेत्र में फलने-फूलने के लिए तैयार किए जाते हैं। उदाहरण के लिए, Technical skills, Computer skills, Marketing skills, Management skills आदि। किसी स्थिति से कुशलतापूर्वक निपटने के लिए और उपकरण, उपकरण या सॉफ्टवेयर के अनुप्रयोग पर अधिक ध्यान केंद्रित किया जाता है।

Soft Skills को Hard Skills से थोड़ा अलग रखा गया हैं क्योंकि Soft Skills को अक्सर उन personal skills  के रूप में देखा जाता है जिन्हें आप खुद ब खुद सीखते हो। अगर आप अच्छा भाषण देना जानते हो तो यह आपकी एक सॉफ्ट स्किल होगी।

अगर आप एक टीम को मैनेज कर सकते हो तो यह भी आपकी सॉफ्ट स्किल होगी। Soft Skills उस समय काम आती है जब आप टाइम मैनेज करते हैं, अन्य लोगों के साथ बात-चीत करते हैं या वर्कप्लेस पर किसी मुश्किल स्थिति का सामना करते हैं। वैसे तो आज के समय मे विभिनम संस्थानों के माध्यम से Soft Skills को भी प्राप्त किया जा सकता हैं लेकिन यह मुख्यतः व्यक्ति खुद ही सीखता हैं।

ये भी पढ़े :- Top high income skills 2021 ?
                   Google mera naam kya hai ?

Soft Skills और Hard Skills का उपयोग (Hard Skills and Soft Skills in Hindi)

अगर आप Soft Skills और Hard Skills के बीच के अंतर को स्पष्ट रूप में समझना चाहते हो तो इसके लिए आपको Soft Skills vs Hard Skills के उपयोग को समझना होगा। अगर आप किसी कंपनी मे हार्ड स्किल्स के साथ किसी Job का interview देने जाते हो तो उमीद है उस कंपनी मे वह आपके जैसे कई अन्य लोग भी आएंगे। ऐसे में अगर आप इंटरव्यूअर को इम्प्रेस करना चाहते हो तो आपको Soft Skills की भी जरूरत पड़ेगी। आपका confidence, आपका बोलने का तरीका आदि इंटरव्यूअर पर एक प्रभाव डालता हैं।

Hard Skills आपकी Professional Life को आगे बड़ाती है जबकि Soft Skills आपकी Professional Life के साथ Personal Life को भी बेहतेर बनाती है 

अगर बात बिजनेस की हो तो बिजनेस में भी जितनी लाभदायक हार्ड स्किलस होती है उतनी ही लाभदायक सॉफ्ट स्किलस होती हैं। Hard Skills के माध्यम से आप अपने बिजनेस को शुरू कर सकोगे लेकिन उसे आगे बढ़ाने के लिए आपको सॉफ्ट स्किल्स की जरूरत भी होगी। मान लीजिए वेबसाइट डिजाइनिंग एजेंसी शुरू करते हैं। 

आपकी ही जैसी कीमत में अन्य कंपनी अगर आपकी जैसी website design करके दे रहे हैं तो क्लाइंट आपको ही क्यों चुनेगा? यहा आपकी सॉफ्ट स्किलस आपके काम आएगी। आप अपनी सॉफ्ट स्किल्स से क्लाइंट के ऊपर अपना प्रभाव बनाते हो जिससे कि वह आपको आपकी Hard Skills के लिए पैसे देने के लिए तैयार होता हैं।

FAQ:-कुछ पूछे गए महत्वपूर्ण क्वेशन 

सॉफ्ट सकिल के प्रकार ?

आज अनेक प्रकार की सॉफ्ट स्किल की जानकारी विद्यमान है  जिनमें से कुछ सॉफ्ट स्किल की ही हमें रोजमर्रा की जिंदगी में बहुत जरूरत पड़ती है जोकि निम्नलिखित है । 
Communication Skills
Listening skills
Team Skills
Presentation Skills
Interpersonal Skills
Negotiation Skills
Leadership Skills
Quality of sitting in society
Intercultural Skills

 सॉफ्ट स्किल का विकास कैसे किया जाए ?

सॉफ्ट स्किल के विकास के लिए अभ्यास की आवश्यकता होती है। इस सकिल का अनुभव प्रैक्टिस के द्वारा ही किया जा सकता है। यह आपके Academic और Professional जीवन में बहुत महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करती है सॉफ्ट सकिल का विकास दो भागों में  किया जा सकता है एक भाग में आपके प्रवृत्तियों तथा गुणों का  विकास शामिल है तथा इसके दूसरे भाग में अपने विचारों और  मनभावन के लिए संचार कौशल(Communication Skills ) शामिल है।

Related Posts

2 thoughts on “स्किल्स क्या है। Hard Skills and Soft Skills

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *