Gap Certificate क्या है और कैसे बनवाते है ?

Join Us On Telegram

Gap certificate kya hai (गैप सर्टिफिकेट क्या होता है?), gap certificate online, gap certificate kaise banaye: अगर आपने कुछ समय पहले अपनी एजुकेशन में ब्रेक (break) लिया था। और अब आप अपनी अधूरी एजुकेशन पूरी करना चाहते है। तो आपको दोबारा उस कोर्स या एजुकेशन को पूरा करने के लिए अपने एजुकेशन सर्टिफिकेट के साथ गैप year सर्टिफिकेट भी दिखाना पढ़ सकता है। ये सर्टिफिकेट सिर्फ पढाई ही नहीं बल्कि अगर आप लम्बे समय के बाद जॉब करने की सोच रहे है तब भी आपको इस सर्टिफिकेट की जरुरत पढ़ सकती है।?

पर आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं क्योंकि हम आज के लेख में वो सब बताने वाले है की आखिर गैप सर्टिफिकेट क्या है और ये इतना जरूरी दस्तावेज क्यों माना जाता है साथ ही इसे कैसे और कहाँ से बनाये हम इस बारे में भी बताएँगे।

गैप सर्टिफिकेट क्या है? (gap certificate kya hai) 

गैप ईयर सर्टिफिकेट एक प्रमाण होता है ये बताने का की आपने जो अपनी एजुकेशन में गैप लिया है उसमे क्या किया। यदि किसी आर्थिक समस्या के कारण आपकी पढ़ाई छूट गयी है। ऐसे में कहीं जॉब या दोबारा कही एडमिशन लेने के लिए आपको गैप ईयर सर्टिफिकेट बनवाना पड़ता है। ये सर्टिफिकेट एक तरह का non judicial stamp paper पर खुद से लिखा हुआ एक statement होता है। जिसमे आपको उस गैप के बारे में बताना पडता है जो आपने अपनी एजुकेशन या कोर्स के दौरान लिया। ये सर्टिफिकेट आप lawyer से या किसी रजिस्ट्रार से बनवा सकते है।

उदाहरण के लिए, अगर आपने ग्रेजुएशन के बाद किसी कारणवश एक साल का ब्रेक लिया है। और अगर मान लीजिये की आप एक साल बाद दोबारा अपनी एजुकेशन जारी रखना चाहते है। तो आपको एडमिशन के लिए सभी दस्तावेज के साथ गैप year सर्टिफिकेट भी दिखाना होगा ताकि एडमिशन देने वाली संस्था ये जान सके की आपने एक साल में क्या किया। 

gap certificate बनवाना क्यों जरूरी होता है?

ऊपर हमने Gap certificate kya hai इस बारे में संक्षेप में पढ़ा या हम उसकी आवशयता के बारे में जानेगे 

gap certificate ये explain करता है। की आपने अपनी एजुकेशन में क्यों ब्रेक लिया अगर आप अपनी अधूरी एजुकेशन को पूरा करना चाहते है तो ये दिखाना बेहद jaruri है। 

gap certificate के द्वारा एडमिशन आसानी से मिल जाता है एक तरीके से ये दस्तावेज अधूरी पढ़ाई को पूरा karne में काफी मददगार(helpful) साबित होता है। 

इस दस्तावेज के द्वारा ये बताना बहुत आसान हो जाता है की आपने अपनी एजुकेशन में गैप (gap or break) क्यों लिया। 

सिर्फ एजुकेशन ही नहीं बल्कि किसी जॉब के इंटरव्यू (job interview) में भी आप ये सर्टिफिकेट दिखा के explained कर सकते है की आपने गैप क्यों लिया। इससे जॉब मिलने में कोई दिक्कत नहीं होती। 

gap certificate कैसे बनाये ?(gap certificate kaise banaya jata hai)

Gap certificate kya hai: लम्बे समय के पश्चात जब आप दोबारा एडमिशन लेते है अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए। तो उस यूनिवर्सिटी के बुलेटिन ya web portal पर एक अलग से फॉर्म (form) होता है उन स्टूडेंट्स के लिए जिन्होंने गैप या break लिया था।

उस फॉर्म आपको अपनी पिछली पढाई की जानकारी देनी होती है और साथ ही ये बताना पडता है की आपने गैप क्यों लिया। 

उस फॉर्म को भरने के साथ आपको सभी एजुकेशनल दस्तावेज (educational documents) भी देने पढ़ते है। ताकि एडमिशन देने वाली authority ये जान सके की आपने जो भी जानकारी दी है वो एक दम सही है सभी जरुरी दस्तावेज के बारे में हमने नीचे बताया है। 

आप चाहे तो किसी lawyer के पास जाकर भी अपना गैप सर्टिफिकेट(gap certificate) बनवा सकते है। वो आपसे ये सर्टिफिकेट बनाने के सौ से दोसो रुपए (Rs.100 से Rs.200 रुपए) तक लगेगा।

gap certificate बनवाने के लिए जरूरी दस्तावेज (Gap certificate banane ke liye document)

gap certificate बनवाने के लिए कुछ जरुरी दस्तावेज submit  करने पढ़ते है जैसे आखिरी बार आपने कौन सा कोर्स किया उसका आखिरी मार्कशीट (last marksheet)।

आप जो भी दस्तावेज दे रहे है उसपे नीचे लिखी जरूरी जानकारी का होना बेहद अनिवार्य है। 

नाम

माता पिता का नाम (Guardian name) 

पूरा पता (address)

कितने समय का गैप लिए? (year of gap )

गैप सर्टिफिकेट बनवाने का कारण (reason for gap)

declaration दस्तावेज 

एजुकेशनल qualification 

ये भी पढे :-Provisional Certificate क्या है और इसे कैसे डाउनलोड करे ?

Legal Heir Certificate क्या है और इसे कैसे बनवाए ?

gap certificate बनवाने के कारण क्या क्या हो सकते है?

Gap certificate kya hai: gap certificate बनवाने के काफी सारे कारण हो सकते है जिसके बारे में आपको gap certificate बनवाते समय लिखना पढता है जैसे –

  • पैसों की कमी(financial problems) के कारण अक्सर गैप लेना पढता है। 
  • कभी कभी फॅमिली इमरजेंसी(family reasons) होती है इस वजह से भी पढाई में गैप लेना पढ़ जाता है। 
  • कुछ परिवारों में जल्दी शादी कर दी जाती है इसलिए मैरिज भी एक बढ़ा कारण हो सकता है गैप लेने का। 
  • job लगने पर भी एजुकेशन पूरी नहीं हो पाती इसलिए भी एजुकेशन में गैप हो जाता है। 
  • मेडिकल या हेल्थ इमरजेंसी(health related reasons) के कारण भी गैप लेना पढ़ सकता है। 
  • कुछ लोग पढाई पूरी होने से पहले ही अपना व्यापार शुरू कर लेते है ये भी बढ़ी वजह होती है बीच में पढाई छोड़ने की।

12th के बाद गैप सर्टिफिकेट कैसे बनाये (Gap certificate after 12th)

Gap certificate kya hai: अगर आपने बारवी कक्षा के बाद एक या दो साल का गैप लिया है। और इस दौरान कोई कोर्स नहीं किया तो आपको कॉलेज के एडमिशन के समय गैप सर्टिफिकेट की आवशयकता पढ़ सकती है। ऐसे में जब आप इतने समय बाद किसी कॉलेज या किसी भी यूनिवर्सिटी में apply करे तो आपको इसका reason भी देना पढ़ेगा की आपने आखिर गैप क्यों लिया। 

आप इसके लिए किसी भी lawyer को सौ से दोसो रुपए देकर गैप ईयर के लिए stamp paper बनवा सकते है। और उस पर अपने गैप का कारण बता सकते है साथ ही सभी important jankari भर के अपने college admission के समय जमा कर सकते है। इससे आपको एडमिशन मिल जाएगा अधिक जानकारी के लिए आप यूनिवर्सिटी से संपर्क कर सकते है। 

Gap certificate kya hai ?

गैप सर्टिफिकेट एक प्रमाण होता है की आपने जो अपनी एजुकेशन में गैप लिया है उसमे क्या किया।


गैप सर्टिफिकेट कहाँ उपयोग होता है?

अगर आपने कुछ समय के गैप के बाद कही एडमिशन लिया है तो वो यूनिवर्सिटी आपसे इस बारे में भी पूछ सकती है। की आपने उस गैप में क्या किया बस इसी सवाल के जवाब में आपको गैप सर्टिफिकेट दिखाना पढता है। उस सर्टिफिकेट पर वो सब लिखा होता है जो भी आपने उस गैप ईयर में किया। 

गैप सर्टिफिकेट कैसे बनाये?

गैप सर्टिफिकेट दस्तावेज आप किसी lawyer से बनवा सकते है। या फिर यूनिवर्सिटी में एप्लीकेशन देकर भी बनवा सकते है aaplication के साथ आपको कुछ और दस्तावेज लगाने पढ़ेंगे। जैसे मार्कशीट, transfer certificate, आइडेंटिटी प्रूफ (identity proof) और birth certificate आदि आजकल हर यूनिवर्सिटी ने अपने ऑनलाइन प्लेटफार्म पर ये सुविधा उपलब्ध करवा रखी है। 

क्या backlog सर्टिफिकेट और gap सर्टिफिकेट एक ही होता है?

जी नहीं, backlog सर्टिफिकेट तब दिखाया जाता है जब आपको कही विदेश में एडमिशन लेना हो। ये आपकी academic backlogs के बारे में बताता है। जबकि जो गैप सर्टिफिकेट होता है vo आपके gap year के बारे में बताता है। की जब आपने अपनी एजुकेशन के दौरान गैप लिया था तो उस gap year को kaise बिताया। 


क्या गैप सर्टिफिकेट दिखाना जरूरी होता है ?

ये निर्भर करता है उस यूनिवर्सिटी पर जहां आप एडमिशन लेने जा रहे है। अगर उनके document verification list में gap certificate लिखा है तो ये दिखाना जरूरी होता है।

2 thoughts on “Gap Certificate क्या है और कैसे बनवाते है ?”

  1. मैने 9th के बाद स्वास्थ्य कारण से पढ़ाई छोड़ दिया था तो क्या 10थ और 12th का परीक्षा एक साथ दे सकता हूं

    Reply
  2. Sir maine entrance exam ke liy form fill kiya h,lekin mere pass gap year certificate nhi tha,kya ye admission ke time bhi deposit ho sakta h?ya exam nhi dene denge?

    Reply

Leave a Comment